Header Ads

  • Breaking Post

    insurance marketing firm: बीमाकर्ताओं से जुड़कर करें व्यापार

     

    insurance marketing firm : बीमाकर्ताओं से जुड़कर करें व्यापार

    भारत सरकार ने insurance प्रोडक्ट अधिक से अधिक लोगों तक पहुचानें के लिए इन्शुरन्स प्रोडक्ट जैसे insurance , म्यूच्यूअल फण्ड, पेंशन, इत्यादि को बेचने के नियमों में काफी बदलाव किया है। इस के अंतर्गत बिमा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए भारतीय बिमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (Insurance Regulatory and Development Authourity of India) ऑनलाइन बिमा प्रोडक्ट बेचने तथा अपना insurance marketing firm शुरू करने का मौका दे रही है। यदि आप insurance business में अपनी रूचि रखते है और आप घर बैठे इस business को करना चाहते है तो यह आर्टिकल आप के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

    insurance marketing firm
    insurance marketing firm


    insurance marketing firm क्या है?

    बिमा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए भारतीय बिमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (Insurance Regulatory and Development Authourity of India

    ) IRDAI  द्वारा बीमा विपणन फर्म खोलने के व्यापारिक उद्देश्य के लिए लोगों को आमंत्रित किया जाता है। जिस के माध्यम से छोटे शहरों, गाँव,  तथा ग्रामीण क्षेत्र को  insurance की हर सुविधा से जोड़ा जा सकें। और इस के माध्यम से स्वयंरोजगार को भी विकासित किया जा सकें। 

    भारत सरकार द्वारा बिमा क्षेत्र में FDI बढ़ाने की पेशकश के साथ आने वालें वित्तीय वर्षों में बीम क्षेत्र के मजबूत विकास के लिए भी कदम उठाने की पेशकश की है जिस से insurance marketing firm को शुरू करने वालों के लिए और इस के व्यापारिक उद्देश्य के लिए भी कई संभावनाएं प्रस्थापित हो गयी है।

    IRDAI  द्वारा insurance marketing firm खोलने के लिए नियमावली

    insurance marketing firm को उद्योग की तौर पर स्थापित करने के लिए IRDAI  द्वारा जारी नियम-निर्देशों को जानना आवश्यक है।

    • जिल्हा स्तर पर insurance marketing firm के उद्योग को स्थापित करने के लिए net worth  10 लाख रुपयें की आवश्यकता होती है। और निति आयोग द्वारा मूल्यांकित एवं परिभाषित किये गये आर्थिक रूप से पिछड़ें जिलों में बीमा विपणन फर्म को संचालित करने के लिए net worth  5 लाख रूपये की आवश्यकता IRDAI द्वारा स्थापत की गयी है। जो किसी संशोधित स्थिति में बदल सकती है।

     

    •  हर वित्तीय वर्ष के समाप्ति से तिन महीने के अन्दर C.A. द्वारा बनाया गया अथवा प्रमाणित  net worth certificate जारी करना और submit करना इन्शुरन्स मार्केटिंग फर्म धारक अथवा चालक के लिए अनिवार्य है।

     

    • insurance marketing firm के प्रधान अधिकारी के लिए आवश्यक है की  वह किसी भी प्राधिकरण मान्यताप्राप्त संस्था द्वारा 50 घंटों को प्रशिक्षण पूर्ण करें और साथ ही  प्राधिकरण द्वारा मान्यता प्राप्त बीमा विपणन फर्म की परीक्षा में उत्तीर्ण हो।

     

    • और यदि insurance marketing firm के प्रधान अधिकारी नामांकित संस्थाएं जैसे, भारतीय बिमा संस्थान-मुंबई , भारतीय बीमांकिक संस्थान, चार्टेड इन्शुरन्स इंस्टिट्यूट-लन्दन, और  बिमा और जोखिम प्रबंधन संस्थान- हैद्राबाद से सम्बंधित हो तो उस के लिए 25 घंटे के प्रशिक्षण के साथ परीक्षा में उतीर्ण होना आवश्यक है।

     

    • नए पंजीकृत बीमा विपणन फर्म के लिए जरुरी है की फर्म की मूल पंजीकरण जारी करने की तारीख से एक वर्ष के भीतर किसी भी एक पॉलिसी का उत्पादन करना आवश्यक है।

     

    • अपने insurance marketing firm को एग्रीकल्चर इंश्योरंस कंपनी ऑफ इंडिया (Agriculture Insurance Company of India) और निर्यात ऋण गारंटी निगम (Export Credit Guarantee Corporation) के साथ जुड़ने की अनुमति IRDAI द्वारा दी जाती है।

    • IRDAI द्वारा जरी नियमों में प्रॉपर्टी , एक्सीडेंट , हेल्थ , GSLI (Group Savings-Linked Insurance Scheme) और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिये बीमा पॉलिसी इस सूची का हिस्सा हैं। इस के साथ ही  insurance marketing firmको  सेवा अथवा प्रोडक्ट चुनने का अवसर प्रदान करता है। साथ ही इस में किसी सेवा अथवा प्रोडक्ट को add और delate करने का भी अवसर प्रदान करता है।

    आवेदन कैसे करें? …..जानें आवेदन सम्बन्धी जानकारी

    insurance marketing firm का हम ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। आवेदन करने से पूर्व आप को इस का रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त करना अनिवार्य है। रजिस्ट्रेशन नंबर को प्राप्त करते ही आप आवेदन कर सकते है।

    इस के लिए हमें IRDAI के संबधिंत वेबसाइट पर जाना होगा। जिस का लिंक आप को यहाँ (IRDAI- क्लिक करें) दिया गया है। वेबसाइट के खुलते ही आप को दाहिनी ओर 4 option नजर आएंगे जिस में सब से ऊपर आपको new users? register now का option दिखाई देगा।

    इस पर क्लिक करते ही आप के सामने एक फॉर्म ओपन हो जाएगा जिसमें आप को अपना नाम, आपने प्राप्त किया हुआ रजिस्टर नंबर,  जिला चुनना, PAN नंबर, आपका e-mail ID और साथ में आप का फ़ोन नंबर submit कर के register पर क्लिक करना होगा।

    insurance marketing firm के लिए आप जब आवेदन करते हो तो आप को 5000 रूपये शुल्क जमा कराना अनिवार्य है जो non refundable याने वापस न करने योग्य होते है। 

    इस के लिए आवेदन करते समय आप दिए गए निर्देशों और मापदंडों के साथ आपका पूरा ब्यौरा आप के documents के साथ देना अनिवार्य होता है जिसमें आप को आपका पहचान पत्र, आप का पैन कार्ड, declaration certificate, directors orthorization letter, managing partners से जुड़ें सभी दस्तावेजों को देना आवश्यक है।

    आवेदन के साथ आप को मान्यता प्राप्त संस्था द्वारा लिए गये 50 घंटों के प्रशिक्षण के सम्बंधित documents और प्रशिक्षण को उत्तीर्ण किया हुआ certificate जमा करना आवश्यक है।

    जब आप insurance marketing firm के लिए आवेदन करते है  तो आवेदन के साथ आप को आपके FSC (financial service executive) और ISP (insurance sales person)  के साथ उनके लाइसेंस का ब्यौरा देना भी अनिवार्य है। जो लाइसेंस SEBI, RBI, PFRDA या पोस्ट ऑफिस द्वारा जारी किये गये है। 

    IRDAI द्वारा निर्देशित रिकॉर्ड maintain करना जरुरी

    1. ग्राहकों से जमा की गयी राशी का विस्तृत ब्यौरा IRDAI के समक्ष प्रस्तुत करना।

    2. अपने ग्राहकों के हितों की रक्षा और ग्राहकों सम्बन्धी गोपनीय जानकारी को बिना अनुमति के सार्वजानिक नही करने के निर्देशों का पालन करना ।

    3. समय समय पर किये गये संशोधित नियमों एवं प्रगटी करण का पालन करना।

    4. घ्राहकों के शिकायतों के लिए अलग व्यवस्था करना जैसे शिकायत register का होना अनिवार्य करना और ग्राहकों की शिकायतों का समाधान ढूँढना।

    5. ग्राहकों की पालिसी का विस्तृत ब्यौरा रखना आवश्यक है। जिस में सम्बंधित तिथि से लेकर जानकारी, और पालिसी प्रकार और प्रीमियम से सम्बंधित सभी आवश्यक ब्यौरा शामिल है।

    6. प्राधिकरण द्वारा जरी सभी नियम और शर्तों का पालन करना आवश्यक है और साथ ही प्राधिकरण द्वारा जरी निर्देशों  का पालन करना भी आवश्यक है।

    7. कोई भी बिमा एजेंट तब तक बीमा विपणन फर्म में स्थानांतरण नहीं कर सकता या उसमें सम्मिलित नहीं हो सकता, जब तक वह अपना वर्तमान एजेंसी लाइसेंस रद्द नहीं करता, और प्राधिकरण द्वारा मान्यता प्राप्त संस्था से बीमा विपणन फर्म का प्रशिक्षण प्राप्त नहीं कर परीक्षा उत्तीर्ण नही हो जाता ।

    8. किसी भी insurance marketing firm में ISP के रूप में लाइसेंस प्राप्त व्यक्ति को किसी बीमा कंपनी, insurance marketing firm अथवा बीमा दलाली firm में स्थानांतरण करने की अनुमति तब तक नहीं दी जाएगी, जब तक वह वर्तमान इन्शुरन्स मार्केटिंग फर्म से NOC प्राप्त नहीं करता ।

    insurance marketing firm से कैसे होती है कमाई

    जब हम इन्शुरन्स मार्केटिंग फर्म को स्थापित कर लेते है तो हम कई इन्शुरन्स कंपनियों से जैसे LIC, HDFC life, HDFC agro, RELIANCE, BAJAJ alliance, MAX life, PNB metlife, TATA AIG, ICICI lobard  जैसे कंपनियों के साथ जुड़ सकते है।

    और उनके health insurance, life insurance, general insurance, pension, mutual fund  के साथ कई प्रोडक्ट की बिक्री हम अपने इन्शुरन्स मार्केटिंग फर्म से कर सकते है। और अपना business बढ़ा सकते है।

    या भी पढ़े :- केंचुएँ की खाद से कर सकते है 1 लाख रुपयें महीने तक की Income

    insurance marketing firm
    insurance marketing firm


    (दोस्तों हम ने इस आर्टिकल में इन्शुरन्स मार्केटिंग फर्म  से जुडी जानकारी को साँझा किया है। जो आप के लिए एक अच्छा business साबित हो सकता है। हमारा यह आर्टिकल आप को कैसा लगा यह हमें अपने comments द्वारा जरुर बताएं।)


    कोई टिप्पणी नहीं

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad